‘मैं भी उठूं, तुम भी उठो, चलो दीवार में इक खिड़की खोलें’
mm 7 Rang
February 8, 2021

गाजियाबाद में साहित्य की एक स्वस्थ और समृद्ध परंपरा रही है और इसे आज के दौर में जीवंत रखने का अद्भुत काम कर रहा है मीडिया 360 लिट्ररी फाउंडेशन। कोरोना काल के दौरान करीब एक साल तक बंद पड़ी गतिविधियों के बाद जब इस संस्था ने 7 फरवरी को गाजियाबाद में कथा संवाद को फिर से शुरु किया तो मानो हर किसी के भीतर का साहित्यकार और साहित्य के प्रति उसकी जायज चिंता फिर से जाग उठी। बड़ी संख्या में लोग होट

अब तो भइया, जो बिकता है, वही दिखता है…
mm 7 Rang
June 1, 2020

एक दौर था जब "जो दिखता है, वो बिकता है" जुमला भारतीय राजनीति और मीडिया के ताल्लुकों का पैमाना हुआ करता था। बीते दो दशकों में मीडिया, खासकर खबरिया चैनल्स की कार्यशैली में आमूलचूल परिवर्तन आया है। अधिकांश मीडिया घरानों और खबरिया चैनल्स ने पेशेवर रुख अख्तियार कर लिया है। शायद उसी का नतीजा है कि उपरोक्त जुमला बदल कर यूं हो गया है -"जो बिकता है, वही दिखता है।"

‘कोरोना से जंग कौन लड़ रिया…’
mm 7 Rang
May 4, 2020

"लो जी कल लो बात...?" यह बात करने का कोई न्यौता था या वह सज्जन मुझे कुछ बताना चाह रहे थे? लहजा ही बड़ा अटपटा था- "लो जी... कल लो बात?" हमने गरदन मरोड़ कर चारों तरफ को देखा। ओरे-धोरे कोई नहीं था। फिर यह बात वाली "बात" किसने छेड़ी थी? अलबत्ता एक पड़ोसी अपनी छत पर खींसे निपोरता जरूर नजर आया।

संस्कार बचे रहेंगे तभी ‘धरा’ भी बचेगी
mm 7 Rang
September 29, 2018

अपनी धरती को हरा भरा करने और इसे प्रदूषण से बचाने को लेकर वैसे तो कई सरकारी अभियान चलते रहते हैं लेकिन कोई स्कूल जब  "धरा बचाओ संकल्प अभियान" चलाए और इस बहाने बच्चों में ये जागरूकता लाने की कोशिश करे तो ये उल्लेखनीय पहल मानी जा सकती है। तीन दिनों तक चलाए गए इस अभियान के तहत गाजियाबाद के सिल्वर लाइन प्रेस्टीज स्कूल ने कई कार्यक्रम किए। नन्हे बच्चों के पॉम पॉम शो के साथ साथ शहर के जाने म

लिखने से पहले पढ़ना बेहद अहम है – विभूति नारायण राय
mm 7 Rang
September 10, 2018

सोशल मीडिया के इस दौर में तमाम नए रचनाकारों की बेहतर अभिव्यक्ति तो ज़रूर नज़र आती है लेकिन वो अपने अलावा दूसरों को कितना पढ़ रहे हैं और सचमुच उनमें पढ़ने के प्रति दिलचस्पी है या नहीं, यह देखना बहुत ज़रूरी है। वरिष्ठ लेखक और उपन्यासकार विभूति नारायण राय ने गाजियाबाद के रचनाकारों के बीच अपनी यह चिंता जाहिर की और कहा कि तकनीकी तौर पर साहित्य की दुनिया भले ही समृद्ध हुई है लेकिन नए लेख

‘साहित्य और कला की परंपरा का जीवित रहना एक सुखद अहसास’
mm 7 Rang
August 31, 2018

गाजियाबाद में साहित्य और संस्कृति से जुड़ी तमाम गतिविधियों की कड़ी में लगातार होने वाले नाटकों, संगीत आयोजनों और साहित्य चर्चाओं ने शहर को एक नया मिजाज़ दिया है। गांधर्व संगीत महाविद्यालय के 39वें वार्षिकोत्सव कार्यक्रम के दौरान भी इसकी साफ झलक मिली।

गाजियाबाद से भी गहरा रिश्ता था अटल जी का
mm 7 Rang
August 16, 2018

अटल जी बेशक अब हमारे बीच न रहे हों, लेकिन उनकी यादें हर शहर के तमाम लोगों के दिलों में बसी हैं। वो जहां भी जाते, उस जगह के लोगों से एक आत्मीय रिश्ता जोड़ लेते थे। अपने लंबे राजनीतिक और साहित्यिक जीवन में अटल जी का गाजियाबाद से भी ऐसा ही लगाव था।

आज़ादी के उत्सव में बच्चों की शानदार प्रस्तुतियां
mm 7 Rang
August 16, 2018

गाजियाबाद के सिल्वर लाइन प्रेस्टीज स्कूल में स्वतंत्रता दिवस उल्लास पूर्वक मनाया गया। बुलंदशहर रोड स्थिति सीनियर ब्रांच में नन्हें मुन्ने बच्चों सहित सीनियर छात्रों ने देश भक्ति से ओतप्रोत गीतों पर एक से एक बढ़िया प्रस्तुति दी। छात्रों ने प्लास्टिक से होने वाले नुकसान के प्रति जागरूक करने का संदेश नाटिका के माध्यम से दिया, वहीं छात्राओं ने नृत्य नाटिका के माध्यम से जल संरक्षण

Copyright 2020 @ Vaidehi Media- All rights reserved. Managed by iPistis