Month: September 2020
भारतीय संस्कृति की प्रखर प्रवक्ता थीं कपिला जी…
mm 7 Rang
September 16, 2020

आज जिस इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र के सदस्य सचिव के तौर पर डॉ सच्चिदानंद जोशी के कंधे पर संस्कृति के इस विशाल केन्द्र की जिम्मेदारी है, वह केन्द्र अगर बना तो उसके पीछे कपिला वात्स्यायन की दूरदृष्टि थी। कपिला जी इसके संस्थापकों में रहीं और जोशी जी उनकी परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं। जोशी जी ने जो बेहतरीन काम किया वो ये कि उन्होंने कपिला जी को पूरा सम्मान दिया और इस संस्था को बड़

Read More
और अब कपिला जी भी साथ छोड़ गईं…
mm 7 Rang
September 16, 2020

कपिला जी को कला के क्षेत्र में अद्भुत योगदान के लिए पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। राज्यसभा की वो पूर्व मनोनीत सदस्य रहीं। कपिला जी इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र की संस्थापक सचिव थीं और इंडिया इंटरनेशनल सेंटर की आजीवन ट्रस्टी भी थीं। उन्होंने भारतीय नाट्यशास्त्र और भारतीय पारंपरिक कला पर गंभीर और विद्वतापूर्ण पुस्तकें भी लिखी थीं। वह देश में भारतीय कला शास्त्र की आधिक

Read More
वरिष्ठ पत्रकार त्रिलोक दीप की नज़र में सर्वेश्वर
mm 7 Rang
September 15, 2020

जब मैंने लोकसभा सचिवालय की नौकरी छोड़ 'दिनमान' से जुड़ने का निर्णय किया तो कुछ लोग मुझे डराने लगे। वहां बहुत दिग्गज हैं, तड़ीबाज हैं,धाँसू हैं वहां के माहौल में तुम अनफिट हो। बिन मांगे जबरन सलाह देने वाले ऐसे लोगों से पिंड छुड़ा कर मैं पहली जनवरी, 1966 में दिनमान से जुड़ गया ।मुझे वहां का वातावरण बहुत ही सुखद और सुकून भरा लगा। अज्ञेय जी ने सभी से मेरा परिचय कराया - मनोहर श्याम जोशी, जितेन्द्र ग

Read More
पाश : हमारे वक्त का ‘सबसे खतरनाक कवि’
mm 7 Rang
September 9, 2020

सितंबर साल का नौंवा महीना है। भारत के लिए यह बदलाव और क्रांति की उम्मीदों का महीना है। मौसम यहीं से करवट लेता है। 28 सितंबर को भगत सिंह का जन्मदिन आता है। सन 1950 में इसी महीने की 9 तारीख को जालंधर के तलवंडी सलेम गांव में अवतार सिंह संधू का जन्म हुआ, जिस पर पंजाबी कविता पाश के नाम से गर्व करती है।

Read More
हबीब साहब का सपना पूरा करना अभी बाकी है…
mm 7 Rang
September 1, 2020

जाने माने रंगकर्मी  और  अपने दौर के जबरदस्त नाटककार  हबीब तनवीर पर बहुत कुछ लिखा जाता रहा है... उनके नाटकों पर, उनके व्यक्तित्व पर और कभी समझौता न करने वाले उनके मिजाज़ पर। उनके जन्मदिन और पुण्यतिथि पर उन्हें रंगकर्मी अपने अपने तरीके से याद करते हैं... कोई उनके तमाम नाटकों की बात करता है, कोई उनके सामाजिक सरोकार को याद करता है तो कोई नाटकों के प्रति उनके समर्पण के बारे में बताता है। इप्

Read More
Copyright 2020 @ Vaidehi Media- All rights reserved. Managed by iPistis