और कितनी बदलेगी साहित्य-संस्कृति की दुनिया

2020 के अपने मायने हैं… जिंदगी की मानो परिभाषा बदल गई हो… साहित्य-संस्कृति की दुनिया बदल गई… लोगों का चिंतन बदल गया, जीवन शैली बदल गई और एक महामारी के नाम पर आपके भीतर के एहसास बदल गए। बेशक 2021 इस नए मायने के साथ साहित्य, संस्कृति और कला की दुनिया में हुए नए प्रयोगों को और विस्तार देने वाला होने जा रहा है। कुछ साल पहले से गूगल ने लोगों के दिमागी घोड़े दौड़ाना बंद कर दिया तो 2020 के ऐतिहासिक कालखंड ने लोगों को घरों में सिमटना सिखा दिया। साहित्य, संस्कृति में क्या और कैसे हो सकता है खास, ये एहसास ही हमें बहुत कुछ सोचने को मजबूर करता है… तो आइए स्वागत करें 2021 का…

Posted Date:

December 31, 2020

8:59 pm
Copyright 2020 @ Vaidehi Media- All rights reserved. Managed by iPistis