साहिबजान :  दर्द की अंतहीन दास्तान…

वो पाकीज़ा की साहिबजान थीं… वो साहिब बीवी और गुलाम की छोटी बहू थीं…वो बैजू की गौरी थीं.. दो बीघा ज़मीन की ठकुराइन थीं…परिणीता की ललिता थीं…और सबसे बड़ी उनकी पहचान थी ट्रेजेडी क्वीन की… लेकिन असल में वो महज़बीं बानो थीं…एक बेहतरीन शायरा…एक तड़पती हुई बेचैन अदाकारा…बहुत कुछ थीं मीना कुमारी। 31 मार्च को महज 38 साल की ज़िंदगी जीकर मीना ने दुनिया को अलविदा कह दिया… इतनी शोहरत और रुतबे के बाद भी वो क्यों तन्हा थीं…उनके लफ्ज़ों में वो क्या दर्द था जो बार बार छलक आता था… आखिर क्या थीं मीना कुमारी…. फिल्मों को बेहद गहराई से पढ़ने ,देखने और समझने वाले प्रताप सिंह ने इस शख्सियत को  कैसे देखा …

Posted Date:

March 31, 2021

2:42 pm
Copyright 2020 @ Vaidehi Media- All rights reserved. Managed by iPistis