‘तकनीकी बमबारी के बीच रंगमंच को बचाने का सही वक्त’

राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के निदेशक और थिएटर ओलंपिक को पहली बार अपने देश में करवाने वाले मशहूर रंगकर्मी वामन केन्द्रे इसे एक ऐसी ही उपलब्धि मानते हैं। उनका कहना है कि थिएटर को मौजूदा वक्त में आम लोगों से जोड़ने, उसे एक नई ताकत देने और बदलती तकनीक के साथ तालमेल बिठाने में यह आयोजन बेहद मददगार साबित होगा। उनका मानना है कि फिल्म, टीवी, इंटरनेट और यू ट्यूब जैसी तकनीकी बमबारी के ज़माने में रंगमंच को बचाना एक चुनौती है, लेकिन यही इसके लिए सबसे सही वक्त है। वामन केन्द्रे से  रंगमंच के तमाम पहलुओं पर खास बातचीत…

Posted Date:

February 27, 2018

5:59 pm
Copyright 2020 @ Vaidehi Media- All rights reserved. Managed by iPistis