क्या आपको पोस्टकार्ड की याद है?

इंटरनेट और ईमेल के ज़माने में लोग भले ही चिट्ठी पत्री के परंपरागत जरिये को भूलते जा रहे हों, अंतरदेशीय और पोस्टकार्ड के नाम से वाकिफ न हों, लेकिन आज भी पोस्टकार्ड की कितनी अहमियत है, इसे कुछ कलाकार शिद्दत के साथ महसूस करते हैं। इस दिशा में लखनऊ का सप्रेम संस्थान अहम भूमिका निभा रहा है। देशभर के कलाकारों, कवियों और लेखकों को एक मंच पर लाकर यह संस्थान आगामी जून में पोस्टकार्ड पर बनी कलाकृतियों की एक प्रदर्शनी लगाने जा रहा है। इसे खास तौर से भारतीय सेना के उन जवानों को समर्पित किया जा रहा है जो दूर दराज़ के इलाकों में परिवार से काफी दूर देश की सेवा में दिन रात लगे रहते हैं ।

Posted Date:

May 3, 2019

11:25 am
Copyright 2020 @ Vaidehi Media- All rights reserved. Managed by iPistis