रंग बिरंगी हरियाली तीज में संस्कृति के कई रंग बिखरे…

आँवला (बरेली)।

वर्षा ऋतु का आगमन.. आसमान में काले मेघ.. हाथों में मेहंदी और शिव पार्वती के लोक गीतों से इफको परिवार की महिलाओं ने मनायी हरियाली तीज। सुबह महिला क्लब द्वारा आयोजित हरियाली तीज की थीम शिव आराधना रही।  इसके लिए इफको अतिथिगृह के हाल में और झूले के साथ श्रीकृष्ण प्रतिमा का भव्य सेट तैयार किया गया। प्रवेश द्वार से लेकर कार्यक्रम स्थल पर सजावट से खास लुक दिया गया।
सुबह महिला क्लब की अध्यक्षा श्रीमती साधना गौतम ने कार्यक्रम की मुख्य अथिति श्रीमती उषा सिंह के साथ द्वीप प्रज्जवलित कर हरियाली तीज का शुभारंभ किया। तीज गणेश वंदना से आरम्भ हुई।

इस अवसर पर कार्यक्रम की मुख्य अथिति श्रीमती उषा सिंह ने आमंत्रित महिलाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि सावन की तीज का पौराणिक महत्व भी रहा है. इस पर एक धार्मिक किंवदती प्रचलित है जिसके अनुसार माता पार्वती भगवान शिव को प्राप्त करने के लिए इस व्रत का पालन करती हैं और उनकी तपस्या से प्रसन्न होकर उन्हें भगवान शिव वरदान स्वरुप प्राप्त होते हैं. मान्यता है कि श्रावण शुक्ल तृतीया के दिन देवी पार्वती ने सौ वर्षों की तपस्या साधना पश्चात भगवान शिव को पाया था.  इसी मान्यता के अनुसार स्त्रियां माँ पार्वती का पूजन करती हैं।
भोजपुरी, राधा कृष्ण और पाहड़ की संस्कृति से जुडे लोकनृत्य, समूहगान, नाटक, राजस्थानी लोकनृत्य और सखियों के साथ झूला हरियाली तीज के कार्यक्रम का केन्द्र रहा।
कार्यक्रम में खास आकर्षण का केन्द्र रहीं 2017 की हरियाली तीज क्वीन श्रीमती अंजू सिंह। उनके बाद दूसरे और तीसरे स्थान पर रहीं श्रीमती सुनीता गुप्ता और श्रीमती प्रीती मागलिक। इस अवसर पर साधना गौतम,श्रीमती बीना झा, श्रीमती सीमा पुरी, सुबह महिला क्लब की सचिव अजंली खेतान, सह सचिव मीना बिष्ट, कोषाध्यक्ष श्रीमती अंजू महेन्द्रू समेत इफको परिवार की महिलाओं ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया।

(इफ्को की प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित)

Posted Date:

July 28, 2017 3:03 pm

Copyright 2017- All rights reserved. Managed by iPistis